CIRB के भैंस मेले में नजर आई काले सोने की चमक

पशु संदेश, भोपाल | 05 फरवरी 2017  

ICAR के केंद्रीय भैंस अनुसंधान संस्थान (CIRB) हिसार के 33 वें स्थापना दिवस पर आयोजित भैंस मेला व प्रदर्शनी में हरियाणा में काला सोना मानी जानी वाली मुर्रा नस्ल की भैंस व झोटों ने जमकर अपना जलवा बिखेरा| मेले के उद्घाटन सत्र में केंद्रीय कृषि वैज्ञानिक चयन मंडल के सदस्य डॉ. एके श्रीवास्तव ने मुख्य अतिथि तथा रामेश्वर सिंह निदेशक कृषि ज्ञान प्रबंधन निदेशालय नई दिल्ली ने विशिष्ट अतिथि के रूप में शिरकत की| मेले के समापन सत्र में हरियाणा किसान आयोग के अध्यक्ष रमेश कुमार यादव ने मुख्य अतिथि तथा राष्ट्रीय अश्व अनुसंधान केंद्र हिसार के निदेशक भूपेन्द्र नाथ त्रिपाठी ने विशिष्ट अतिथि के रूप में अपनी उपस्थिती दर्ज कराई | CIRB के निदेशक डॉ इन्द्रजीत सिंह से सभी अतीथीयों का स्वागत किया | कार्यक्रम के अंत में मेला समन्वयक तथा संसथान के प्रधान वैज्ञानिक डॉ सतवीर सिंह दहिया ने सभी आगन्तुकों का आभार प्रकट किया | मेले में हरियाणा व पड़ोसी राज्यों से आये सैकड़ों किसानों व पशुपालकों ने हिस्सा लिया|

मेले दौरान भैंस व झोटों की विभिन्न वार्गों में प्रतियोगिताएं हुई| प्रतियोगिता में लगभग 300 पशुओं ने हिस्सा लिया। दुग्ध प्रतियोगिता में 23.24 किलो दूध देने वाली उमरा के ओम प्रकाश की भैंस नें प्रथम स्थान प्राप्त किया | प्रथम श्रेणी में 21 किलो से अधिक दूध देने वाली भैंसों की श्रेणी में 6 भैंसों को पुरस्कार स्वरूप 21 हजार रूपए की राशि, द्वितीय श्रेणी 18-21 किलो दूध देने वाली भैंसों की श्रेणी में 16 भैंसों को पुरस्कार स्वरूप 10 हजार रूपए की राशि, तथा तीसरी श्रेणी में 15-18 किलो दूध देने वाली भैंसों की श्रेणी में 3 भैंसों को पुरस्कार स्वरूप 5 हजार रूपए की राशि प्रदान की गई |

मेले दौरान हुई झोटों की प्रतीयोगता में कुरुक्षेत्र के करमवीर सिंह के पाडे युवराज ने प्रथम स्थान हाँसिल किया | मेले में करोडों की कीमत वाले मशहूर झोटे युवराज 8 करोड़, हीरा-मोती 6 करोड़, गौरव 5 करोड़, भीम 4 करोड़, और अर्जुन तथा रूस्तम विशेष आकर्षण का केन्द्र रहे। 5 से 6 फुट तक के इन हट्टे-कट्टे चमकते शरीर वाले झोटों के साथ लोग सेल्फी लेते नजर आये |

For more news logon to www.pashusandesh.com and download app pashusandesh from google playstore.