हिमाचल पशु पालन विभाग के निदेशक बने डॉ यूनुस अंसारी

पशु संदेश, भोपाल | 3 अप्रैल 2017 

हिमाचल प्रदेश सरकार ने डॉ यूनुस अंसारी को राज्य के पशु पालन विभाग का नया निदेशक नियुक्त किया है | इसके पूर्व वे पशु पालन विभाग में लंबे समय से जॉइंट डायरेक्टर के पद पर कार्यरत थे | राज्य सरकार ने उनकी वरिष्टता और कार्य क्षमता को देखते हुए उन्हें पदोन्नत कर विभाग की कमान सौंपी है | डॉ अंसारी ने 1 अप्रैल को बतौर डायरेक्टर अपना कार्यभार ग्रहण कर लिया है |

कार्यभार ग्रहण करने के बाद पशु संदेश से चर्चा में डॉ अंसारी ने कहा कि ग्रामीण स्तर की पशु चिकित्सा संस्थाओं का सुद्रणीकरण कर लोगों को गुणवत्तापूर्ण पशु चिकत्सा सेवायें उपलब्ध सुनिश्चित कराना  उनकी पहली प्राथमिकता है | कृतिम गर्भाधान पर चर्चा करते हुए डॉ अंसारी ने बताया कि राज्य में चरणबद्ध तरीके के AI सेवाओं का विस्तार किया जायेगा, जिससे प्रत्येक पंचायत स्तर पर AI की सुविधा उपलब्ध हो सके |

ब्रीडिंग पालिसी पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य में देशी नस्लों जैसे साहीवाल और रेड सिंधी को बढ़ावा दिया जायेगा | देशी नस्लों को बढ़ावा देने के लिए अब एम्ब्रीयो ट्रांसफर टेक्नोलॉजी (ETT) प्रोग्राम में देशी नस्लों को भी शामिल किया जायेगा | इसके लिए साहीवाल और रेड सिंधी जैंसी देशी नस्लों के सांडों को उनके मूल ब्रीडिंग ट्रैक्ट से चुनाव कर लाया जायेगा |

डॉ यूनुस अंसारी ने महू वेटरनरी कॉलेज से 1980 में BVSc की डिग्री हासिल की है | डिग्री पूरी होने के पश्चात उन्होंने एक साल तक BAIF में कार्य किया | सन 1981 में BAIF छोड़ कर उन्होंने हिमाचल प्रदेश पशु पालन विभाग में बतौर वेटरनरी अस्सिस्टेंट सर्जन अपनी सेवायें प्रारंभ कीं | हिमाचल प्रदेश में अपने कैरियर के दौरान डिप्टी डायरेक्टर, जॉइंट डायरेक्टर अदि कई पदों पर कार्य करते हुए आज वे राज्य पशु पालन विभाग के सर्वोच्च पद पर आसीन हैं |

पशु संदेश परिवार की ओर से डॉ यूनुस को बहुत बहुत बधाईयाँ तथा भविष्य के लिए शुभकामनाएं |