गौ-शालाओं को आत्मनिर्भर बनाने आगे आई यूनिवर्सिटी

पशु संदेश, लखनऊ| 30 जुलाई
मथुरा स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय ने गौ-शालाओं को गोद लेने की योजना शुरू की है| इस कड़ी की शुरुआत में वृंदावन की पंचायती गौ-शाला को विश्वविद्यालय ने गोद लिया है| योजना के तहत विश्वविद्यालय गोद ली हुई गौ-शाला को आत्मनिर्भर बनाने के लिए हर क्षेत्र में मदद करेगा|
योजना के बारे में मीडिया को जानकारी देते हुए विश्वविद्यालय के कुलपती केएमएल पाठक ने बताया कि गोद ली हुई गौ-शालाओं के लिए तीन डॉक्टरों का दल गठित किया गया है| इस दल में मेडिसिन, गायनोकॉलोजी और न्यूट्रीशन के विशेषज्ञ होंगे| यह दल माह में दो बार गौ- शालाओं में जाकर उन्हें मार्गदर्शन देगा| इस के अलावा गौ-शालाओं के मेनेजर्स को गोशाला प्रबंधन के विभिन्न आयामों पर प्रशिक्षण भी दिया जायेगा|
नस्ल सुधार को बढ़ावा देने के लिए विश्वविद्यालय ने उत्तर प्रदेश लाइवस्टॉक बोर्ड के साथ करार किया है| इस के तहत बोर्ड, विश्वविद्यालय को साहीवाल नस्ल के उन्नत सांडों का सीमन देगा, इस सीमन का गौ-शालाओं में नस्ल सुधार के लिए उपयोग होगा|

  •